जैन गुरुजैन समाचार

उपाध्याय श्री ऊर्जयंत सागर जी महाराज का चातुर्मास बीसपंथी मंदिर इंदौर में होना तय।


इंदौर:- आचार्य विमल सागर जी महाराज के अंतिम शिष्य उपाध्याय 108 श्री ऊर्जयंत सागर जी  महाराज का  चातुर्मास श्री शांतिनाथ  दिगंबर जैन बीसपंथी मंदिर मल्हारगंज  इंदौर पर  होना निश्चित  हो गया है ।समाज के संजीव “संजीवनी” ने बताया कि अभी महाराज श्री बावनगजा सिद्ध क्षेत्र में विराजमान है।

महाराज श्री के चातुर्मास हेतु श्री भरत काला, अजय पाल टोंग्या,  राजेश पंड्या एवं धर्मेंद्र पाटनी ने  समस्त जैन समाज, बीसपंथी मंदिर व्यवस्थापक कमेटी व मांगीलाल मंडल की ओर से श्रीफल भेंट किया। इस पर गुरुदेव ने सहमति रूपी आशीर्वाद प्रदान किया। कुछ दिनों में ही उपाध्याय ऊर्जयंत सागर महाराज बावन गजा से बिहार कर, इंदौर में मंगल प्रवेश करेंगे।इंदौर में होने वाला यह चातुर्मास प्रशासन के नियमानुसार सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए संपन्न करवाने हेतु कमेटी द्वारा सारी तैयारियां पूरी की जा रही है। सम्पूर्ण इंदौर दिगम्बर जैन समाज में इस चातुर्मास को लेकर अपार हर्ष है।

Related Articles

Back to top button
Close