चातुर्मास 2020 CHATURMAS 2020चातुर्मास की खबरे एवं जानकारीजैन समाचार

श्री विज्ञाश्री माताजी स संघ का पावन चातुर्मास 2020 फुलेरा में तय

फुलेरा शहर में खिला चातुर्मास का फूल*

\
अहिंसा क्रांति न्यूज़


फुलेरा। गणाचार्य 108 श्री विराग सागर जी महाराज की सुयोग्य शिष्या भारत गौरव चारित्र -चंद्रिका, श्रमणी गणिनी आर्यिका रत्न105 श्री विज्ञाश्री माताजी के पावन चातुर्मास 2020 हेतु 24 जून को सांभर में हुए कार्यक्रम में फागी, अजमेर, जयपुर ,सांभर व फुलेरा जैन समाज ने आगामी चातुर्मास 2020 के निवेदन हेतु अपनी अपनी भावनाओं को लेकर आर्यिका श्री के कर कमलों में श्रीफल भेंट किया। उक्त समय गुरु मां ने कहा जिसके भाग्य में नहीं होता है तो संत वहां से भाग कर चले जाते , और जिसके भाग्य में होता है वहां पर संत भाग कर भी वापस आ जाते हैं उन्होंने कहा कि मेरे गुरुवर ने किसी को ना गिनकर दिया ,ना तोलकर दिया ,जिसे भी दिया दिल खोल कर दिया। गुरु मां ने गुरु की आज्ञा अनुसार फुलेरा (राजस्थान) जैन समाज को चातुर्मास हेतु सहर्ष स्वीकृति प्रदान की स्वीकृति प्रदान करते हैं फुलेरा जैन समाज ने गुरु मां के जयकारे लगाए।

कार्यक्रम में राजाबाबु गोधा फागी ने शिरकत करते हुए बताया कि  फागी से अग्रवाल समाज के अध्यक्ष महावीर प्रसाद झंडा, पंचायत समिति के पूर्व प्रधान सुकुमार झंडा, की अगुवाई में, श्रीफल भेंट करने हेतू सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए समाज के गणमान्य व्यक्ति गए थे। लेकिन चातुर्मास का फूल फुलेरा में खिला। कार्यक्रम में जयपुर, सांभर,फुलेरा, अजमेर ,फागी व अन्य जगहों के लोग मौजूद थे ।

फुलेरा  से जैन समाज अध्यक्ष कैलाश बैनाड़ा,समन्वयक सुबोध छाबड़ा,महामंत्री राकेश रावका, उपाध्यक्ष विमल काला एवं महेश रांवका, कोषाध्यक्ष अनिल लुहाड़िया, मन्त्री कमल वेद, अनिल छाबड़ा, पूर्व अध्यक्ष सुरेश रांवका , सुरेश बड़जात्या, कमल रांवका ,गजेन्द्र लुहाड़िया, राकेश जैन, मुन्ना बड़जात्या ,मुकेश रांवका, दिनेश रांवका, मनोज बड़जात्या पवन गंगवाल,धरमजी जैन, महिला मण्डल अध्यक्ष श्रीमती इंदु बड़जात्या, रेखा रांवका, मीनाक्षी रांवका, मंजु बैनाड़ा, प्रेम रांवका, सुशीला लुहाड़िया,विमला रांवका,सुनिला रांवका, करिश्मा पाटनी, नीलम रांवका आदि अनेक लोग मौजूद थे। पूज्य माताजी ससंघ सांभर आने के पहले  फुलेरा में ही विराजमान थी। दिगम्बर जैन समाज फुलेरा को अनेक वर्षों बाद चातुर्मास कराने का सोभाग्य प्राप्त हुआ हैं।सकल दिगम्बर जैन समाज के सभी सदस्य चातुर्मास की घोषणा से अति प्रसन्न हैं।

Related Articles

Back to top button
Close