Take a fresh look at your lifestyle.
Browsing Tag

अहिंसा क्रांति

मुनि संघ का भव्य पिच्छिका परिवर्तन समारोह शीतलधाम में सम्पन

अहिंसा क्रांति /ब्यूरो चीफ देवांश जैन विदिशा - सोचा न था कि गुरूदेव की रहमत इस कदर वरसेगी कि सारी दुनिया शीतलधाम आने को तरसेगी" उपरोक्त उदगार मुनि श्री सौम्यसागर जी महाराज ने सोमवार

आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के पचासवे आचार्य पदारोहण दिवस पर भारतीय डाकतार विभाग द्वारा…

अहिंसा क्रांति /ब्यूरो चीफ देवांश जैन विदिशा - जैनाचार्य गुरूदेव विद्यासागर जी महाराज के पचासवे आचार्य पदारोहण दिवस 22 नवम्वर 2021को भारतीय डाकतार विभाग द्वारा विशेष आवरण (डाक लिफाफा)

जैन समाज की महिलाओं ने दीपावली मिलन में रंगोली सजाकर मनाई खुशियां

अहिंसा क्रांति /ब्यूरो चीफ देवांश जैन भोपाल - श्री दिगम्बर जैन महिला मंडल झिरनों की महिला सदस्यों ने श्री नेमीनाथ दिगम्बर जैन मंदिर झिरनों परिसर में दीपावली मिलन महोत्सव मनाया सभी महिला

धर्म प्राण नगरी सिलवानी में तो ब्रती श्रावक एवं श्राविकाओं की लाईन लगी है – मुनि श्री समता…

अहिंसा क्रांति /ब्यूरो चीफ देवांश जैन सिलवानी - अष्टान्हिका महापर्व में नंदीश्वर दीप में स्वर्गों के अधिपति सौ धर्म इनद्र सभी इन्द्रों के साथ पूजन करने जाते है, मनुष्यों को एवं

वही विद्यार्थी अपने जीवनकाल में सफल हो पाता है जिसकी निगाह अपने लक्ष्य की ओर होती है – मुनि…

अहिंसा क्रांति /ब्यूरो चीफ देवांश जैन विदिशा - जो महापुरुष होते है,वह एक बार यदि कोई संकल्प कर लेते है,और जब तक वह संकल्प पूर्ण नहीं होता तब तक उनको भी चैन नहीं मिलता उपरोक्त उदगार मुनि

जब आपकी आस्था डगमगा जाती है,तो वंहा पर धर्म की विरादना ही होती है – मुनि श्री सौम्यसागर जी…

अहिंसा क्रांति /ब्यूरो चीफ देवांश जैन विदिशा - किसी कार्य को संपन्न करते समय अनूकूलता की प्रतीक्षा करना सही पुरूषार्थ नहीं है, कारण कि जो कुछ भी घट रहा है,वह राग की भूमिका में ही घट रहा

अपना विकास करना चाहते है, वह अपने आपको लघुतम तथा सामने बाले को गुरूतम मानते है – मुनि श्री…

अहिंसा क्रांति /ब्यूरो चीफ देवांश जैन विदिशा - जब तक आप अपने आपको लघु नहीं मानोगे तब तक गुरूतम नहीं वन सकते,आजकल कोई अपने आपको लघुतम मानना ही नहीं चाहता क्यू कि अंदर का अहंकार उसको झुकने

पिच्छिका अहिंसा, करूणा और दया की परिचायक है – मुनिश्री संस्कार सागर जी महाराज

अहिंसा क्रांति /ब्यूरो चीफ देवांश जैन भोपाल - आचार्यश्री विराग सागर महाराज के शिष्य मुनिश्री संस्कार सागर महाराज का पिच्छिका परिवर्तन श्री शांतिनाथ जिनालय परिसर दानिश कुंज में सम्पन्न

दीपावली का त्योहार प्राणिओं का संहार करके न मनाऐं – मुनि श्री सौम्य सागर जी

अहिंसा क्रांति /ब्यूरो चीफ देवांश जैन विदिशा - जिस प्रकार से अंग्रेजों ने जलियाँवाला बाग नरसंहारकांड कर मानवीयता को छार छार किया था उसी प्रकार आप लोग दीपावली के इस अहिंसक पवित्र त्योहार

प्रशंसा के भूखे योग्यता से कंगाल होते है – मुनि श्री सौम्य सागर जी महाराज

अहिंसा क्रांति /ब्यूरो चीफ देवांश जैन विदिशा - एक किसान समयोचित समय में जब योग्य वीज को योग्य खाद पानी के साथ वो देता है,तो जब वह अंकुरित होता है तो अपने माथे पर लगी माटी को हटाते हुये