चातुर्मास 2020 CHATURMAS 2020चातुर्मास की खबरे एवं जानकारीजैन समाचार

साध्वी सौम्यगुणा का हुआ बाड़मेर नगर प्रवेश

आत्मा से जुड़ने का अनुष्ठान है ये चातुर्मास- साध्वी सौम्यगुणाश्री

AHINSA KRANTI NEWS

साध्वी सौम्यगुणाश्रीजी का बुधवार को नगर प्रवेश हुआ। खरतरगच्छ जैन श्री संघ चातुर्मास समिति के अध्यक्ष प्रकाशचंद संखलेचा व उपाध्यक्ष मांगीलाल धारीवाल ने बताया कि गुरुवर्या सौम्यगुणाश्रीजी आदि ठाणा-4 के नगर प्रवेश का सामैया महावीर सर्किल स्थित वर्धमान स्वामी जिनालय से से प्रारंभ होकर चातुर्मास स्थल जिन कांतिसागरसूरि आराधना भवन पहुंचा। जहां पर चातुर्मास समिति के पदाधिकारियों व अतिथियों ने दीप प्रज्जवलित किया। कई वर्षो के इतिहास के पहली बार बिना बैंड-बाजा व सादगीपूर्ण तरीके से प्रवेश का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ।

साध्वी सौम्यगुणाश्रीजी ने कहा कि वर्तमान समय में कोरोना महामारी ने व्यक्ति को स्वयं से जुड़ने का एक अवसर दिया है। मनुष्य आज दिन तक पैसे के लिए दिन-रात दौड़धूप करता रहा है लेकिन वर्तमान में वैश्विक स्तर पर कोरोना रूपी महामारी ने व्यक्ति को संयुक्त परिवार के साथ पुनः जीना सीखा दिया है। ये चातुर्मास स्वाध्याय व साधना से युक्त होगा। आराधना भवन के शिखर शासन ध्वज लहराने का लाभ बाबूलाल माणकमल ठकूवाणी परिवार ने लिया।

आराधनामय चातुर्मास की झलकियां – छाजेड़़ ने बताया कि इस वर्ष सरकारी गाइडलाइन के अनुसार सामुहिक प्रवचन इत्यादि नही होगों। चातुर्मास में सामुहिक प्रवचन के स्थान पर धार्मिक क्लासेस रहेगी। प्रतिदिन प्रातः 5.30 बजे से 06.15 बजे तक वैराग्य गर्भित स्वाध्याय, प्रातः 06.30 बजे से 07.15 बजे तक ज्ञानवर्धक शिविर सूत्रपाठ शिविर, प्रातः 09.15 बजे से 10.00 बजे तक जैन कर्म सिद्धांत का स्वाध्याय (गौतमपृच्छा व कर्मग्रंथ पर आधारित), प्रातः 10.00 से 11.00 बजे तक गुरूवर्या श्री के दर्शन-वंदन, प्रातः 11.30 बजे से दोपहर 03.00 बजे तक मौन साधना, दोपहर 04.30 बजे से 05.15 बजे तक महिला क्लास,, दोपहर 05.15 से 06.00 बजे तक विविध विषय शिविर, दोपहर 05.00 बजे से 06.00 बजे तक गुरूवर्या श्री के दर्शन-वंदन,  सांय 06.00 बजे से 07.00 बजे तक मौन साधना आदि अनेकविध अभूत अनुष्ठान इत्यादि इस चातुर्मास के दौरान सम्पन्न होगें। चातुर्मास के दौरान वासक्षेप इत्यादि नही दिया जायेगा, सामुहिक प्रतिक्रमण आदि क्रियाएं बंद रहेगी, साध्वीजी भगवंत के चरण स्पर्श नहीं करेगें, दर्शनार्थी आराधना भवन में मास्क पहनकर ही प्रवेश करेगें तथा सूर्यास्त के बाद साध्वीजी भगवंत के पास में श्रद्धालुओं का प्रवेश निषेध रहेगा।

Related Articles

Back to top button
Close