योगा के माध्यम से प्रतिरोधक क्षमता का विकास किया जा सकता है : राष्ट्रसंत कमलमुनि कमलेश

- Advertisement -

AHINSA KRANTI NEWS

- Advertisement -

जोधपुर  12 जुलाई  2020  महावीर भवन नेहरू पार्क। शादी में सरकार ने 50 स्थल जनों को भाग लेने की स्वीकृति प्रदान की है तो फिर साधना  मे स्थलों पर धारा 144 क्यों कम से कम शादी में जाने जितने लोगों स्थान धर्म में आने की इजाजत देनी चाहिए उक्त विचार राष्ट्र संत कमलमुनि कमलेश ने महावीर भवन नेहरू पार्क में कोरोना मुक्ती आध्यात्मिक प्रशिक्षण शिविरको संबोधित करते कहा कि विश्व में सर्वोपरि शक्ति आध्यात्मिक शक्ति है इसको जागृत करके ही हर क्षेत्र में विजय प्राप्त की जा सकती है
उन्होंने कहा कि सभी धर्म स्थलों को कोराना मुक्ति प्रशिक्षण केंद्र के रूप में परिवर्तित कर देना चाहिए जहां पर प्रार्थना की दुआओं से प्राणियों की सुरक्षा कवच तैयार होगा प्रशिक्षित व्यक्ति जनता के बीच कोरोनावायरस योद्धा बनकर जागरूकताका काम करेगा।
राष्ट्रसंत ने कहा कि आज का विज्ञान भी कह रहा है संगीत भक्ति थेरेपी से मानसिक तनाव से मुक्ति मिल सकती है मानसिक तनाव भी सभी रोगों की जननी है।
मुनि कमलेश ने कहा कि ध्यान और मौन के माध्यम से आत्मा की शक्ति को एकाग्र कर उस वाइब्रेशन से आधी व्याधि उपाधि से मुक्ति पाई जा सकती हैं।
मुनि कमलेश ने कहा कि योगा के माध्यम से प्रतिरोधक क्षमता का विकास किया जा सकता है सरकार कोराना मुक्ति के लिए सभी संसाधन झोंक देगा तो भी आध्यात्मिक शक्ति को जागृत नहीं कर पाएगा और इसके बिना मुक्ति मिलनी मुश्किल है

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.