जैन समाचार

भोजन में झूठा डालना परमात्मा का अपमान करने के समान है : राष्ट्रसंत कमलमुनि कमलेश

AHINSA KRANTI NEWS

पाली। 14 जून 2020  अहिंसा भवन अन्न  देवता सभी देवताओं से महान है इसके बिना धर्म साधना और परमात्मा की भक्ति की कल्पना भी नहीं की जा सकती अन्न ही ब्रह्म का दूसरा रूप है उक्त विचार राष्ट्र संत कमलमुनि कमलेश ने रोटी बैंक के भवन शिलान्यास एवं रोटी मशीन के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते कहा कि अन्न दान सबसे महान दान है एक-एक दाने का सम्मान करना परमात्मा की भक्ति से बढ़कर है     

  मुनि कमलेश ने कहा कि कोरोनावायरस की महामारी के बीच भामाशा होने जो घर में पानी की गिलास भी नहीं उठाते हैं उन्होंने अपने प्राणों की परवाह न करते हुए कोरूना योद्धा बनकर इंसान ही नहीं मूक प्राणियों की कुत्ता बिल्ली बंदर गाय तक की निस्वार्थ भाव से सेवा की बधाई के पात्र हैं       राष्ट्रसंत ने कहा कि सात्विक और नियंत्रित भोजन दवाई और अमृत का काम करता है तामसिक भोजन जहर का काम करता है विश्व में भूख से मरने वाली के बजाय ज्यादा खाकर मरने वालों की संख्या ज्यादा है         जैन संत ने कहा कि भोजन के अभाव में कोई दम तोड़ता है तो लोकतंत्र की दुहाई देने वाली सरकार के लिए मुंह पर तमाचा है       उन्होंने कहा कि भोजन में झूठा डालना परमात्मा का अपमान करने के समान है रोटी मशीन का उद्घाटन किया गया रोटी बैंक भवन का शिलान्यास मदन लाल कवा ड की स्मृति में आनंद जी कवाड़ परिवार ने किया धैर्य मुनि नेमीचंद चोपड़ा सभा को संबोधित किया  विभिन्न दानदाताओं ने करीब 20 लाख का दान दिया

Related Articles

Back to top button
Close