जैन प्रवचन jain pravchanजैन समाचार

प्रशिक्षण से कम समय में ज्यादा सफलता अर्जित की जा सकती है : संत कमलमुनि कमलेश

अहिंसा क्रांति न्यूज़ 6 जुलाई 2020

जोधपुर। मंदबुद्धि वाले तोता बंदर घोड़ा आदि को प्रशिक्षण देने वाले मिलते हैं तो उनमें भी प्रतिभा का विकास हो जाता है तो भला तीव्र बुद्धि स्वतंत्र सोच वाले इंसान को प्रशिक्षण देने वाला मिले तो निश्चित उसमें अलौकिक चमत्कार पर रहते हैं उक्त विचार राष्ट्र संत कमलमुनि कमलेश ने महावीर भवन नेहरू पार्क  में कोरोना  मुक्ति अध्यात्मिक प्रशिक्षण केंद्र पर संबोधित करते कहा कि प्रशिक्षण से कम समय में ज्यादा सफलता अर्जित की जा सकती है       

उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण कर्ता जितना समर्पित भाव से निष्ठा पूर्वक निस्वार्थ भाव से प्रयास करेगा उतना ही उज्जवल भविष्य का निर्माण होगा         राष्ट्रसंत ने कहा कि प्रशिक्षक के अभाव में तीन लोक की संपत्ति देकर भी प्रतिभा विकसित नहीं की जा सकती है प्रशिक्षक जितना कुशल होगा उतनी ही ऊंचाइयों को छू पाएंगे         मुनि कमलेश ने कहा कि प्रतिभा खरीदी और बेची नहीं जा सकती है वह तो अपने अंदर से प्रकट करनी होती है प्रशिक्षित करता के कठोर अनुशासन को भगवान का आदेश मानकर स्वीकार करें     

     जैन संत ने स्पष्ट कहा कि हित शिक्षा को अनदेखा करता है अनुशासन को गुलामी का प्रतीक मानता है दुर्बुद्धि से दिखता है उसका तीन काल में भी कल्याण संभव नहीं है कोरोनावायरस महामारी से बचने और सुरक्षा का प्रशिक्षण दिया गया कौशल मुनि जी ने मंगलाचरण किया अक्षत मुनि जी ने विचार व्यक्त किए

Related Articles

Back to top button
Close