जैन गुरुजैन समाचार

“गुरु बिना जीवन अधूरा” : आचार्य प्रणाम सागर

AHINSA KRANTI NEWS

बैडिया (नि प्र) जिस प्रकार संसार में जन्म लेने के लिए मा की कोख की जरूरत होती है उसी तरह जीवन को सुधारने के लिए गुरु की आवश्यकता होती है।  नगर में विराजित परम पूज्य गुरुवर आचार्य श्री108 प्रणाम सागर जी महाराज ने न्यूज चैनल के माध्यम से बताया कि मा स्कूल भेजकर संसार की जानकारी दिलाती हैं

लेकिन संत गुरुकुल बुलाकर हमेशा हुई भूल को सुधार कर जीवन में आमूल चुल परिवर्तन कर देता है अर्थात धर्म ओर आधात्म से जोड़ देता है। मानव जीवन में  गुरु का अधिक महत्व हे। मानव जीवन में गुरु गुणों की खान है उससे ही हमारा कल्याण है। समाज अध्यक्ष अजय शाह एवं  कैलाश जटाले ने बताया कि आज की आहार चर्या समाज सचिव धर्मेन्द्र कुमार जैन के यहां सम्पन्न हुई।

Related Articles

Back to top button
Close