जैन समाचार

मंदारगिरी पर्वत शिखर पर जैन श्रद्धालुओं ने किया पूजा-अर्चना, विश्वशांति के लिए की गई शांतिधारा

ahinsa kranti news

बौंसी (बांका) ।  मंदारगिरी पर्वत शिखर स्थित जैन धर्म के 12 वें तीर्थंकर भगवान वासुपूज्य स्वामी की तप, ज्ञान व निर्वाण स्थली दिगम्बर जैन मंदिर में गुरुवार को स्थानीय जैन श्रद्धालुओं ने पूजा – अर्चना किया। प्रातः भगवान वासुपूज्य मोक्ष कल्याणक मंदिर में जैन धर्मावलंबियों ने मंगलाचरण , अभिषेक पाठ , जलाभिषेक , शांतिधारा कर पूजा – अर्चना किया। इसके उपरांत जिनेन्द्र प्रभु को अर्घ्य समर्पित किया गया।

 
क्षेत्र प्रबंधक पवन कुमार जैन ने बताया कि विश्वशांति के मंगल कामना के साथ भगवान वासुपूज्य के चरण पादुका व उत्तुंग खड्गासन प्रतिमा पर शांतिधारा व नित्य पूजन पाठ , मंगल आरती भक्तिमय वातावरण में किया गया। इस बीच मंत्रोच्चारण से मंदिर परिसर गुंजायमान हो उठा। जिनेन्द्र भगवान का शांतिधारा विश्व के सम्पूर्ण जीव जंतुओं के सभी तरह के दुःख , कष्ट , पीड़ा हरण के साथ सुख-शांति-समृद्धि लिए किया जाता है। 


जैन समाज के मीडिया प्रतिनिधि प्रवीण जैन ने कहा कि जिस प्रकार देश ही नही अपितु पूरे संसार में कोरोना वायरस के प्रकोप से महामारी मचा है जिससे मुक्त होने के लिए दवाओं के साथ दुआओं की भी जरूरत है। जिसको लेकर जैन श्रद्धालु निरंतर पूजा पाठ कर भगवान से मंगल प्रार्थना कर रहे है। वहीं मंदारगिरी दिगम्बर जैन सिद्ध क्षेत्र में जैन श्रद्धालुओं ने श्रद्धापूर्वक अपने आराध्य प्रभु की भक्ति आराधना कर अर्घ्य चढ़ाया।
इस अवसर पर प्रबंधक पवन कुमार जैन , प्रवीण जैन , नीतू जैन , शिल्पी जैन , सत्यम जैन , उपेंद्र जैन , पुजारी मिथिलेश झा आदि जैन श्रद्धालु शामिल हुए।

Related Articles

Back to top button
Close