चातुर्मास 2020 CHATURMAS 2020चातुर्मास की खबरे एवं जानकारीजैन समाचार

गुरु मां विशुद्धमति माताजी का टोंक में 51 चतुर्मास एवम मंगल कलश स्थापना भक्ति भाव के साथ हुयी

AHINSA KRANTI / ABHISHEK LUHADIYA


टोंक
श्री आदिनाथ दिगंबर जैन नसिया अमीरगंज टोंक में गणिनी गुरु मां विशुद्धमति माताजी ससंघ का 51 चतुर्मास एवम कलश की स्थापना श्री दिगंबर जैन नसिया अमीरगंज टोंक में मंत्रोचार के साथ संपन्न हुई समाज के प्रवक्ता पवन कंटान एवं संयुक्त मंत्री कमल सर्राफ ने बताया कि इस पावन अवसर पर प्रातकाल अभिषेक, शांतिधारा के पश्चात प्रबंध कमेटी जैन नसिया के द्वारा झंडारोहण का कार्यक्रम आयोजित हुआ उसके बाद मंगलाचरण ,दीप प्रज्वलन एवं आदिनाथ भगवान एवं आचार्य निर्मल सागर जी महाराज का चित्र अनावरण का कार्यक्रम हुआ उसके बाद प्रबंध कमेटी जैन नसिया एवं समाज के प्रबुद्ध जनों द्वारा विशुद्ध मति माताजी के ससंघ को चतुर्मास के लिए बड़े भक्ति भाव से श्रीफल भेंट किए उसके पश्चात पांच रजत मंगल कलश मंत्रोचार के साथ स्थापना हुई

इस मौके पर पंडित रजनीश जी शास्त्री द्वारा मंगल कलश की स्थापना मंत्रोचार के साथ क्रिया संपन्न कराई इस मौके पर कोरोना और लोक डाउन के चलते सभी भक्तो ने अपने घरों पर श्रीफल चढ़ाकर अनुमोदना की इस मौके पर समाज के अध्यक्ष धर्मचंद आंडरा, नाथू जी शिवाड़, पदमचंद आंडरा,धर्मचंद दाखिया, मुनि सेवा समर्पित धर्मेंद्र पासरोटियां, राजेश सर्राफ, श्याम लाल जैन सुनीलआंडरा,बाबूलाल समिधी नरेंद्र जैन टीवी, पप्पू मलारना, आदि समाज के लोग उपस्थित थे
इस अनुपम बेला मे प्रज्ञा पद्मनी आर्यिका श्री 105 विज्ञमति माताजी चातुर्मास स्थापना के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा की वर्षाऋतु में, साधुजन, बारिश से उत्पन्न हुए जीवों की रक्षा एवं अपनी संयम साधना हेतु आषाढ़ सुदी चतुर्दशी से कार्तिक वदी चतुर्दशी, इन 4 माह तक, लगातार एक ही स्थान पर रहने का संकल्प ग्रहण करते है। इसी संकल्प के साथ माताजी ने बताया कि मूलाचार के अनुसार परिस्थिति वश वे 2 कोस अर्थात 6 किमी. तक विहार करने की छूट रख सकते है।

Related Articles

Back to top button
Close