जैन गुरुजैन समाचार

भक्ति योग साधना के माध्यम से कोरोनावायरस को हराया जाएगा : राष्ट्रसंत कमलमुनि कमलेश

अहिंसा क्रांति न्यूज़ 27 जून 2020


जोधपुर । आध्यात्मिक साधना के माध्यम से आत्मा की अनंत ऊर्जा को जागृत करके स्व कल्याण के साथ पूरे विश्व को नई दिशा प्रदान होती है उक्त विचार राष्ट्र संत कमलमुनि कमलेश ने शास्त्री नगर में व्यक्त करते कहा कि इसी के सहारे हिंदुस्तान को विश्व गुरु का गौरव प्राप्त हुआ। मुनि कमलेश ने कहा कि भौतिकवाद की चकाचौंध में 21वीं सदी में हम जैसे संतों का निर्माण होना यह भी उसी की देन है वह अवसर चातुर्मासराष्ट्रसंत ने केंद्र और राज्य सरकारों और राज्य सरकारों को  स्पष्ट शब्दों में कहा कि देशभर में लाखों संत चातुर्मास हेतु अपने अपने स्थान पर पहुंच रहे हैं उसके लिए कोई गाइडलाइन जारी नहीं की गई यह अत्यंत दुर्भाग्य का विषय है।

मुनि कमलेश ने कहा कि आध्यात्मिक साधना से ही कोरोनावायरस पर  विजय पाने वाले योद्धाओं को तैयार किया जाएगा भक्ति योग साधना के माध्यम से कोरोनावायरस को हराया जाएगा।  मुनि कमलेश ने कहा कि 1 जुलाई के पूर्व प्रशासन को चातुर्मास के लिए गाइडलाइन जारी करनी चाहिए नहीं तो फिर संपूर्ण जिम्मेदारी प्रशासन की होगी अनादि काल की चातुर्मास की परंपरा को हर हालत में पालन करने का कठोर संकल्प संतों ने ले लिया है। 

जैन संत ने कहा कि चातुर्मास को लेकर अभी भी संतो भक्तों में संशय बना हुआ है भ्रांति फेल रही है गुमराह हो रहे हैं उन्हें सही मार्गदर्शन कर सके। राष्ट्र संत कमलमुनि कमलेश एवं मूर्तिपूजक वरिष्ठ आचार्य भगवन राजतिलक सुरेश्वर जी ने संयुक्त बयान जारी करके कहा कि जो भी सरकार के निर्देश होंगे उनका नियमित पालन किया जाएगा दोनों महापुरुषों ने चातुर्मास को लेकर रूपरेखा तैयार की गई जिसमें भीड़ एकत्रित नहीं करना सादगी और साधना को प्राथमिकता देना विश्व शांति के लिए जाप कोरोना योद्धा तैयार करना तप और सेवा को प्राथमिकता देना 28 जून को मुनि कमलेश के महावीर भवन नेहरू पार्क चातुर्मास प्रवेश में मूर्तिपूजक संतो ने पधारने की स्वीकृति प्रदान की है उससे समाज में अपार हर्ष छाया हुआ है। 

Related Articles

Back to top button
Close