Browsing Category

जैन प्रवचन jain pravchan

आपसी सहयोग पर टिकी है समाज की नींव–आनंद मुनि

चरखी दादरी:(अहिंसा क्रांति/ मुकेश जैन)समाज में आपसी सहयोग जितना मजबूत होगा वह समाज उतना ज्यादा तरक्की की ओर अग्रसर होगाआपसी प्रेम व सदभावना ऐसा भाव है जिस पर इस

पुरुषार्थ के अनुसार विद्या (ज्ञान) प्राप्त होती है : आचार्य भव्यदर्शन सूरीश्वर म. सा

AHINSA KRANTI NEWS मैसूर। आचार्य विजय भव्यदर्शन सूरीश्वरजी म. ने प्रवचन में बताया कि – संस्कृत के सुभाषित में बात आती है – पुरुषार्थ के अनुसार विद्या (ज्ञान)

परमात्मा की उपासना करो, परमात्मा स्वयं बन जाओगे- आचार्य विशुद्धसागर

AHINSA KRANTI / NILESH JAIN आरा। जेल रोड स्थित श्री दिगम्बर जैन चन्द्रप्रभु मन्दिर में नगर प्रवास कर रहे दिगम्बराचार्य जैन संत आचार्य श्री विशुद्धसागर महाराज जी

बिना पापकर्म कभी कोई प्रकार की पीड़ा आती ही नहीं : आचार्य भव्यदर्शन सूरीश्वर म. सा

AHINSA KRANTI NEWS मैसूर। आचार्य विजय भव्यदर्शन सूरीश्वरजी म. ने प्रवचन में बताया कि – शारीरिक – मानसिक – आधिभोतिक पीड़ावाला मानव यदि कोई वैद्य के पास जाकर अपनी

बड़े पैमाने पर हिंसा करनेवाला मनुष्य यहाँ से मरकर नरक में जाता है : आचार्य भव्यदर्शन…

AHINSA KRANTI NEWS मैसूर। आचार्य विजय भव्यदर्शन सूरीश्वरजी म. ने प्रवचन में बताया कि – मानवजन्म एक ज़ंक्शन है । यहाँ से हरगति में आत्मा जा सकती है । हर जन्म से आ

व्यक्ति क्षमा धर्म आराधना में आगे बढ़े : आचार्य महाश्रमण

AHINSA KRANTI NEWS हैदराबाद। हजारों-हजारों किलोमीटर पदयात्रा कर जन मानस में अहिंसा, नैतिकता, सद्भावना व नशामुक्ति की अलख जगाने वाले शांतिदूत आचार्य श्री

बाहर की यात्रा के साथ करे हम अंतर्यात्रा : आचार्य महाश्रमण

AHINSA KRANTI NEWS / RAJENDRA BOTHRA हैदराबाद। शमशाबाद स्थित महाश्रमण वाटिका का परिसर। जहां सुबह से ही जन सैलाब उमड़ रहा था। पांच महीनों का चातुर्मास आज

धनिक और धार्मिक की अगर पसंदगी करनी है तो हमें धार्मिक ही पसंद करना है : आचार्य भव्यदर्शन…

AHINSA KRANTI NEWS मैसूर। आचार्य विजय भव्यदर्शन सूरीश्वरजी म. ने प्रवचन में बताया कि – श्रावक के दिल में आगामी जन्म के लिए क्या सोच होनी चाहिए । इस जन्म में

चातुर्मास के साथ जीवन परिवर्तन का यह मौका बनना चाहिए : आचार्य श्री भव्यदर्शन सूरीश्वर म.…

AHINSA KRANTI NEWS मैसूर। श्री सुमतिनाथ जैन श्वेताम्बर मूर्तिपूजक संघ के तत्त्वावधान में महावीर भवन में  आज ‘चातुर्मास परिवर्तन पर्व’ पर प्रवचन देते हुए पूज्य

हैदराबाद की जनता धार्मिकता से रमणीय बने : आचार्य महाश्रमण

चातुर्मास के अंतिम दिन श्रद्धालुओं ने व्यक्त की मंगल भावना ** AHINSA KRANTI / RAJENDRA BOTHRA *30 नवंबर, सोमवार, महाश्रमण वाटिका, शमशाबाद, हैदराबाद। कार्तिक