जैन समाचार

भीष्म तपस्वी आचार्य श्री हंसरत्न सूरिश्वरजी का पारणा मुंबई में


अहिंसा क्रांति / महावीर भंसाली


मुम्बई। सरस्वतीलब्ध राज प्रति बोधक जिनशासन प्रभावक आचार्य देव श्री रत्नसुंदर सूरिश्वरजी महाराज साहेब की पावन पुण्य निश्रा में विश्व के अजोड़ तपस्वी आचार्य देव श्री हंसरत्न सूरीश्वरजी महाराज साहेब के 95 उपवास का पारणा भायखला मुंबई की पावन धरा पर शेठ मोतीसा चैरिटेबल ट्रस्ट देरासर के तत्वाधान में 25 मई 2020 को मंगलमय घड़ियों में संपन्न होगा गुरुदेव की तपस्या की अनुमोदना के लिए हम सभी को घर बैठकर तप, जप, ध्यान, संयम, साधना से जुड़ना है गुरुदेव के इस तप अनुमोदनार्थ सामूहिक अठम 21,22,23 मई को आयोजन किया गया है

जिसमें सभी को ज्यादा से ज्यादा जुड़ना है और अगर हम नहीं कर सके तो  एक उपवास कर गुरुदेव के तप की अनुमोदना हम सभी को करना है गुरुदेव ने 54 वर्ष की अल्प आयु में 19 साल में 72 मासक्षमण और लगभग 3300 उपवास के साथ कई छोटी बड़ी तपस्या कर विश्व विक्रम  बनाया है इसमें मुंबई की पावन धरा पर दो बार 180 उपवास गुण संवत्सर तप और गत वर्ष महाराष्ट्र के सांगली नगर की पुण्य धरा पर तीसरी बार 180 उपवास का हेट्रिक रिकॉर्ड बनाया है ऐसे गुरुदेव को हम शत-शत बार वंदन नमन करते हैं आपके तपस्या की बारंबार सुख साता पूछते हैं आपका मंगलमय पारणा निर्विघ्न संपन्न हो आप ऐसे ही जिन शासन में शासन प्रभावक बनकर तप धर्म का परचम फैलाते रहे ।आप पर गुरु भगवंतो का आशीर्वाद निरंतर बना रहे यही सखल संघ की ओर से शुभकामनाएं । यह जानकारी सांगली से हमारे प्रतिनिधि महावीर भंसाली ने दी।

Related Articles

Back to top button
Close