साध्वी श्री की निश्रा में लिया “आयंबिल का सामूहिक प्रत्याख्यान”

- Advertisement -

AHINSA KRANTI NEWS

बैंगलोर। राजराजेश्वरी नगर तेरापंथ महिला मंडल द्वारा साध्वी श्री उज्जवल प्रभा जी ठाणा 4 के सानिध्य में अ.भा.ते.म.मं. के निर्देशानुसार आयंबिल का सामूहिक प्रत्याख्यान कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आचार्य श्री महाप्रज्ञ शताब्दी वर्ष में ज्ञान चेतना वर्ष के अन्तर्गत पूरे एक वर्ष में आज के 22 आयंबिल सहित लगभग 150 आयंबिल हुए।साध्वी श्री सन्मति प्रज्ञा जी ने आयंबिल करने की सही विधि बताई। साध्वी श्री उज्जवल प्रभा जी ने फरमाया कि एक आयंबिल से 1000 करोड़ वर्षों के पाप धुल जाते हैं।

- Advertisement -

रसना-विजय का अनुपम अनुष्ठान है आयंबिल। उपवास, आयंबिल आदि से इम्युनिटी घटती नहीं बल्कि बढ़ती है, क्योंकि हमारे शरीर में अधिकतर विकार असमय एवं अपाच्य खाने से ही पैदा होते हैं। साध्वी श्री जी ने उपस्थित बहनों को आयंबिल का प्रत्याख्यान कराते हुए प्रेरणा दी कि अधिक नहीं तो कम-से-कम महीने में एक बार तो उपवास अथवा आयंबिल जरूर करना चाहिए। कई भाई-बहनों ने महीने में एक बार उपवास या आयंबिल करने का संकल्प लिया। अध्यक्ष श्रीमती सरोज बैद ने साध्वी श्री जी के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित की तथा सभी तपस्वियों के आयंबिल की अनुमोदना करते हुए सुखसाता की पृच्छा की एवं सभी के प्रति मंगलभावना प्रेषित की। उपाध्यक्ष श्रीमती लता बाफना एवं मंत्री श्रीमती शोभा बोथरा सहित अन्य बहनों की उपस्थिति रही। 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.