breaking news मुख्य समाचारJain News

सनावद में भजन संध्या का हुआ आयोजन

अहिंसा क्रांति / सन्मति जैन काका


सनावद:- 20वी सदी के प्रथमाचार्य आचार्य श्री 108 शान्ति सागरजी महाराज की अक्षुण्ण परंपरा के पंचम पट्टाधीश निमाड़ की माटी के लाल सनावद नगर गौरव आचार्य श्री 108 वर्धमान सागर जी महाराज से सिद्धक्षैत्र सिद्धवरकूट में आज से 3 वर्ष पूर्व आर्यिका दीक्षा गृहण करने वाली आर्यिका 105 देशना मति माता जी का दीक्षा दिवस पर आयोजित भजन संध्या बड़ी धूमधाम से आर्यिका माता जी परिवार के द्वारा निर्मित नवींन वर्धमान देशना संत निलय में मनाई गईं ।

सन्मति जैन काका ने बताया की जीसमें प्रदीप पंचोलिया,प्रसांत जैन मोनू, आदित्य पंचोलिया,संगीता पाटोदी,मेघा जैन व पुण्या जैन ने सुमधुर भजनों की प्रस्तुति देकर सभी को मंत्र मुक्क्त कर दिया। जैसा की ज्ञात है की आर्यिका श्री 105देशना मति माता जी का जन्म सनावद नगर में 11मार्च1959 को हूवा था आप का नाम ब्र.उषा दीदी था आप के पिता श्री स्व. कमलचंद जैन स्वतंत्रता सेनानी थे व आप की माता का नाम सांता देवी था।आप ने बी.ए तक की पढ़ाई कर आप ने बैंक में भी नोकरी की एवम 1997 को आप ने आचार्य श्री 108 विद्या सागर जी महाराज से आजीवन ब्रह्मचर्य व्रत श्री सिद्ध क्षैत्र सिद्धवरकूट में लिया था। आप ने आर्यिका दीक्षा 14 अक्टूबर2016 आशोष शु.तेरस को आचार्य श्री वर्धमान सागर जी महाराज से सिद्धक्षैत्र सिद्धवरकूट में ही ग्रहण की थी।इस अवशर पर मुकेश जैन, सुरेश जैन खंडवा, डॉ. प्रदीप जैन, हेमेंद्र काका,सरल जटाले,पवन धनोते,सेलेश जैन,चाँदमल जी मास्टर साब,निमिष जैन,आशीष जैन सहित सभी समाज्जन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close