breaking news मुख्य समाचारJain Newsजैन प्रवचन, जैन धर्म, जैन ज्ञानजैन साधू, जैन मुनि, जैन साध्वी

व्यक्ति वैसा ही बनता है, जैसी उसकी दृष्टि : राजमती

अहिंसा क्रांति न्यूज़

जोधपुर  ।  महावीर भवन निमाज की हवेली में चातुर्मास के दौरान  उपप्रवर्तिनी  राजमती  म सा ने कहा कि  व्यक्ति वैसा ही बनता है, जैसी वह दृष्टि रखता है।  बुरा कर्म करके भी अच्छे फल की आशा पालने वाला, बाहर से अपने को अच्छा दिखाने का प्रयत्न कर रहा है । पर भीतर में मलिन वासनाओं एवं विकारों से युक्त होता जा रहा है ।

  जब तक व्यक्ति अपनी दृष्टि को परिवर्तित नही करेगा, तब तक वह शुभता सुचिता के भावों में रमण नही कर पायेगा ।  साध्वी डॉ. राजरश्मि  ने कहा कि जीवन में दृश्य बनकर नही द्रष्टा बनकर जीना सीखो । जहां द्रष्टाभाव होगा वही निर्मलता मधुरता ओर विनम्रता का भाव जागृत होगा। साध्वी डॉ. राजऋद्धि ने कहा कि आईना तोड़ने वाले तुझे यह ध्यान रहे अक्ष बंट जाएगा तेरा भी कई हिस्सों में ।   

     संघ महामंत्री सुनील चौपड़ा ने जानकारी देते हुए बताया कि श्रीमती कुसुम  पारख  के  शुक्रवार को 19 उपवास की तपस्या  सुख साता पूर्वक गतिमान है  । शनिवार को  कृष्ण जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में प्रातः 9 बजे  से  10 साल तक  के बच्चों के लिए फैंसी ड्रेस एवं 15 सेकंड की प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी ।  दस साल से ज्यादा उम्र के बच्चों एवं महिलाओं के लिए दोपहर 2:00 बजे से प्रश्न मंच  कृष्ण को जानो  प्रतियोगिता का आयोजन  किया जाएगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close