breaking news मुख्य समाचारJain Newsचातुर्मासजैन प्रवचन, जैन धर्म, जैन ज्ञानजैन साधू, जैन मुनि, जैन साध्वी

बुरहानपुर में हुआ चातुर्मास कलश स्थापना महोत्सव का आयोजन/ अहिंसा क्रांति

अहिंसा क्रांति अखबार

बुरहानपुर:- यदी आपके सामने सोना,चाँदी,स्‍टील व कांच के गिलास मे पानी भर कर रख दिया जाए और आपको कहा जाए की जाकर पानी पि लो तो आप सोने के गिलास का पानी पियोगे। क्‍यो कि अच्‍छी वस्‍तु को पहले पकडोगे। दुसरे गिलास मे भरा पानी का स्‍वाद क्‍या अलग है? नही पानी का स्‍वाद सभी गिलास मे एक जैसा है। फर्क पानि का नही फर्क गिलास का है। उसी प्रकार नगर मे चातुर्मास के लिए विराजमान साधु समाज के लिए एक जैसे है।

जैन धर्म मे 36 शास्‍त्रो मे से रत्‍नकरण श्रावकाचार ग्रंथ मुख्‍य है। इस ग्रंथ मे जैन धर्म श्रावक का आचरण कैसे होना चाहिए इस बारे मे लिखा है। जीवन मे जरुर पढना चाहिए। ये उदबोधन श्रमण प्रसन्‍न मन: मुनि प्रणुत सागर महाराज ने चातुर्मास कलश स्थापना के समय राजस्थान भवन मे कहे। मुनि सेवा समिती संयोजक नितिन जैन ने बताया की रविवार को सुबह 6:00 बजे राजस्थान भवन मे श्रीजी अभिषेक ईन्‍द्र अनिल सुनिल पाटनी ने किया।शाँतिधारा रमेश नारले एवं नरेन्‍द्र महेन्द्र जैन ने कि। भगवान की पुजा श्रावक श्रेष्‍ठी नरेन्‍द्र लुहाडिया व्‍दारा कि गई। मुनि संघ , पंडित सुरेन्द्र भारती व पंडित अशोक शास्‍त्री सान्‍निध्‍य मे 1008 आहुतिया हवन कुंड मे अर्पित कि गई।400 सदस्‍यो ने अर्पित कि।

मुनि संघ कि आहारचर्या महावीर दिलीप पहाडिया व मुकेश ठोलिया के यहा हुई।समिति सदस्‍य राजेश चांदमल जैन ने बताया कि दोपहर 2:00 बजे चातुर्मास कलश स्थापना की विधी आरंभ हुई। पाठशाला के बच्‍चो ने मंगलाचरण किया। मुनि संघ पर महिला मंडल ने नृत्‍य प्रस्‍तुत किया। संगितकार सोनल जैन ने भजन गाये।

चातुर्मास के पांच कलशो मे प्रथम कलश सम्यक दर्शन कलश भिलाई के नेमिचंद पहाडिया , व्‍दितीय कलश सम्यक ज्ञान कलश महावीर प्रसाद पहाडिया, तृतीय कलश सम्यक चारित्र कलश फोफनार के सागलमल सेठी, चतुर्थ कलश आचार्य विमल सागर महाराज कलश प्रमोद बडजात्‍या,पांचवा कलश आचार्य विशुध्‍द सागर महाराज कलश जम्‍बु कुमार पहाडिया परिवार को सौभाग्‍य प्रप्‍त हुआ। वाचना कलश फोफनार हरकचंद सोनी परिवार को प्राप्त हुआ। चार माह के लिए आदिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर मे रखे गये है चातुर्मास संपन्न होने के बाद परिवार के सदस्‍यो के घर रखे जायेगे।चातुर्मास समिति संयोजक पवन जैन ने कहा कि दो मुनि के गृहस्थ जीवन के सदस्‍यो का सम्मान किया गया। मुनि प्रणुत सागर महाराज व्‍दारा लिखी पुस्तक उत्‍कर्श प्रेरणा का विमोचन भोपाल राजेश गंगवाल, समाजजनो ने किया।दिल्‍ली, औरंगाबाद, नागपुर,भोपाल, आगरा, उज्‍जैन, रावेर, शाहपुर आदि स्‍थानो से गुरु भक्‍त आये थे। दिलीप पहाडिया ने कहा कि सोमवार से प्रवचन का विषय रत्‍न करण श्रावकाचार रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close