जैन प्रवचन jain pravchanजैन समाचार

ना छुओ ना छूने दो कोरोना महामारी से बचने का नारा : विराग सागर महाराज

भिंड,,,परम् पूज्य राष्ट्रसंत गणाचार्य श्री 108 विराग सागर जी महाराज ने राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस पर भारत राष्ट्र के नाम अमर संदेश में कहा भारत देश पर गर्व है आदिनाथ के प्रथम पुत्र भरत चक्रवर्ती हुए जिनके नाम से भारत देश का नाम पड़ा खंडगिरि उदयगिरि के शिलालेख मैं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने संदेश दिया भारत देश ही सही नाम है 1947 का दिन याद आ रहा है शहीदों ने देश रक्षा के लिए प्राण तक न्यौछावर कर दिए ना ही क्रत्मुपकार साधवा विस्मरंती सज्जन उपकार विस्मरण नहीं करते शायद ही भारत के अलावा अन्य देश के पीछे माता जैसा सम्मान वाचक शुद्ध जुड़ा हो ऐसे ऐसे महापुरुष हुए

जिन्होंने देश का नाम उठाया ऐसे पुत्र रामचंद्र जी हुए जिन्होंने प्राण पर खेलकर पिता के प्राण की लाज रखी ब्राह्मण सुंदरी जैसी कन्याओं ने पिता ऋषभदेव की शान के लिए आजीवन ब्रह्मचर्य व्रत स्वीकारा था पिता का सिर झुकने नहीं दिया इस देश के वासी हैं कारागार में रहे योजनाएं सही पर देश को स्वतंत्रता दिलाई हमें गर्व है हम इस देश के वासी हैं जहां ऐसी संस्कृति है परतंत्रता के कारणों पर विचार करें नशा व्यसन मुक्ति भारत बने क्रांति ही नहीं सारा देश ही नशा मुक्त हो अतिचार अनाचार के प्रतिशत मैं अंतर आएगा देश का आदर्श उपस्थित होगा

स्वाधीन होकर देश के विकास में आगे आएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने कार्यकाल में ऐसे बड़े-बड़े काम किए तरक्की पाएगा हमारा देश सोने की चिड़िया घी दूध की नदी वह आने वाला देश पुनः अपनी भूमिका में आ रहा है ऋषभदेव का बैल शिव का नदी कत्लखाने में ना जाएं माध्यमिक भोजन में बच्चों को अंडे मांस ना दिए जाएं गांधी जी विदेश गए पर विदेसी नहीं बने बीमार हुए पर अंडे नहीं खाए धार्मिक व्यक्ति रहे तो सुख शांति आनंद की नदियां बहन जी राजनेताओं ने देश संरक्षण में विशेष योगदान दिया है भगवान महावीर स्वामी का सूत्र जियो और जीने दो तथा मैंने भी ना छुओ ना छूने दो कोरोना महामारी से बचने का नारा दिया 14 प्रांत हमारे अभियान में जुटे हैं मुख्य संदेश है अंडे के पान पर गो का दूध दे पीए सब इसमें एक मत है विकास में चार कदम बढ़ाए सवाशो वर्ष पूर्व स्थापित कोलकाता की महासभा को मेरा शुभ आशीर्वाद है समस्त देशवासियों को मेरा शुभआशीर्वाद

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close