Uncategorised
Trending

किसी से आपेक्षा मत रखो आग्रह मुक्त जीवन वनाओ-मुनि श्री प्रमाण सागर जी महाराज

विदिशा अहिंसा क्रांति/ब्यूरो चीफ देवांश जैन

सागर-अपने अधिनस्थ कर्मचारियों से एवं अपने घर पर कार्य कर रहे नौकर चाकर से भी जो विनम्रतापूर्वक व्यव्हार करता है, वही सच्चे अर्थों में मनुष्य हैं।

उपरोक्त उदगार मुनि श्री प्रमाण सागर जी महाराज ने चैनल के माध्यम से सम्वोधित करते हुये कहे। विदिशा जैन समाज के प्रवक्ता अविनाश जैन ने वताया मुनि श्री ने जैन धर्म के अनेकांत को चार वातो में विभक्त करते हुये कहा कि आग्रह, अनाग्रह, दुराग्रह, एवं अनाग्रह इन चार शव्दों में  हमारा संपूर्ण जीवन निर्भर करता है, इन चार शव्दों में ही अनेकांत कायम है,

उसी पर चर्चा करते हुये मुनि श्री ने कहा कि आग्रह करना वुरा नहीं लेकिन आग्रह की भी एक सीमा होती है, आग्रहित व्यक्ती यदि उस कार्य को कर पा रहा है तो फिर आग्रह करना गलत नहीं है लेकिन उस आग्रह को यदि आप थोपने लग जाओगे, और दूसरों की वात को सुना अनसुना करोगे तो वह दुराग्रह हो जाऐगा,और उसी वात को यह कहकर नहीं ये तो तुमको करना ही हैं, तो वह हटाग्रह हो जाऐगा।

उन्होंने कहा कि तटस्थता का जीवन जीना ही अनाग्रह हैं। उन्होंने कहा कि किसी से आपेक्षा मत रखो आग्रह मुक्त जीवन वनाओ यदि आपके आग्रह में विनम्रता होगी तो सामने वाला व्यक्ती आपके आग्रह को टाल नहीं पाऐगा। दूसरा किसी से कभी पूर्वाग्रह मत रखो उन्होंने कहा कि पूर्वग्रहों की मानसिकता से गलत निर्णय और आरोप की भाषा होती है, पूर्वाग्रह से गृहस्थ के निर्णय कभी अच्छे नही होते। कभी कभी आरोप की भाषा से आपस के सम्वंध खराब होते हैं।

उन्होंने कहा कि  आधी अधुरी वातों को सुनकर अपनी धारणा मत वनाइये। और निर्णय मत कीजियै। उन्होंने वर्तमान परिपेक्ष्य की चर्चा करते हुये कहा कि वर्तमान समय में कोरोना के कारण आप लोगों के धर्म ध्यान में वाधा उत्पन्न हुई है। लेकिन यह रोग छुआछूत का रोग है, जो कि दुर्तगती से वड़ता हैं इस समय राजा आपको आदेश दे रहा है कि आप अपने घर पर रहिये लेकिन देखने में और सुनने में आ जाता है, की कुछ लोग अभी भी आग्रह कर उसे दुराग्रह में परिवर्तित करना चाहते है, जो कि वर्तमान समय में संभव ही नहीं है।

उन्होने कहा कि थोडासा अपने ऊपर अंकुश लगाइये। एवं शासन के आदेशों का पूर्णतया पालन करना चाहिये। मंदिर न सही अपने मन को मंदिर वना लो। विदिशा श्री सकल दि. जैन समाज के द्वारा आगामी कोरोना लाक डाऊन  तक यह व्वस्था निरंतर जारी हैं। पुलिस प्रशासन की ओर से निर्देश प्राप्त हुये हैं और यह निर्देश हमारे और आपके परिवार की सुरक्षा के लिये हैं, उनका सभी लोग पालन करें। पहली वात तो यह है कि हम सभी को अपने अपने घरों से विल्कुल भी वाहर नही निकलना है, और यदि कोई आवश्यक कार्य से वाहर निकलना हो तो पैदल ही निकलें और  शोसल डिस्टेंस का पालन करते हुये तुरंत वापिस आएं और घर पर आकर अपने हाथ पैर को धोना न भूलें।

ब्यूरो चीफ देवांश जैन (विदिशा) मध्यप्रदेश

Related Articles

Back to top button
Close