आचार्य श्री महाश्रमणजी का चातुर्मास हैदराबाद में महाश्रमण वाटिका में

- Advertisement -

अहिंसा क्रांति / राजेन्द्र बोथरा


हैदराबाद। आचार्य श्री महाश्रमण चातुर्मास व्यवस्था समिति- हैदराबाद  के पदाधिकारियों की मीटिंग आज ऑनलाइन  ज़ूम एप के माध्यम से की गई। मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए श्रीमान महेंद्र जी भंडारी ने हैदराबाद में होने वाले चातुर्मास के संबंध में पूरी जानकारी सभी को देते हुए बताया कि हैदराबाद में चातुर्मास होना लगभग 100% निश्चित है, इसमें किसी को कोई संशय नहीं होना चाहिए। आचार्य श्री महाश्रमण जी अभी सोलापुर के निकट विराज रहे हैं और  विहार में लगभग 15 से 20 दिन ही लगने वाला है।

- Advertisement -

चातुर्मास की समुचित व्यवस्थाओं की दृष्टि से और वर्तमान में कोरोना महामारी से उत्पन्न स्थितियों और नियमों को ध्यान में रखते हुए गुरुदेव का चातुर्मास महाश्रमण वाटिका में ही होना सर्वाधिक उचित है। व्यवस्था संबंधित तैयारियों के बारे में भी सभी को जानकारी दी गई और  चर्चा की गई। आगे उन्होंने बताया कि महासभा और कैंप ऑफिस से भी  निरंतर संपर्क स्थापित हैऔर वहाँ से भी आगे के विहार आदि के बारे में जो संकेत प्राप्त हो रहे है उस हिसाब से विहार सामुहिक या छोटे ग्रुप में भी सम्भव है।  इसलिए विहार  रास्ते का भी सर्वे किया जा रहा है और आवश्यक परमिशन के लिये वहाँ के सरकारी महकमे से भी बात हो रही है। जल्दी ही कुछ पदाधिकारी गुरुदेव के दर्शन हेतु जाएंगे और इसकी परमिसन की कोशिश की जा रही है। महामंत्री मनोज दुगड़ ने अहिंसा यात्रा में  समिति द्वारा संचालित चौके की व्यवस्थाओं की जानकारी देते हुए इसमें सेवा देने वाले श्रावको के प्रति विशेष आभार जताया और साथ ही प्रवास स्थल पर निर्माण कार्यों की भी जानकारी प्रस्तुत की।यहाँ  की स्थिति  भी अब धीरे धीरे बेहतर हो रही है। इसकी जानकारी केम्प आफिस के माध्यम से गुरुदेव तक बराबर पहुंचाई जा रही है। वहाँ से  गुरूदेव का जो भी चिंतन होगा उस हिसाब से आगे की व्यवस्थाओं का समायोजन किया जाएगा।  ऑनलाइन मीटिंग में वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रसन्न जी भंडारी सहित अनेक पदाधिकारियों ने जुड़कर अपने विचार रखे। अंत मे महामंत्री मनोज जी दुगड़ के आभार ज्ञापन के साथ मीटिंग संपन्न हुई।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.